How Make Successfull – SAFAL KAISE BANE

                                                        सफल कैसे बने? 

                                               Safal Kaise Bane

      How make successful  –   Jivan Me Saphal Kaise Bane

             

How Make  Successfull - SAFAL KAISE BANE

                                         
जीवन में सफलता की चाह हर किसी को होती है चाहे वह अनाड़ी हो या खिलाड़ी सबकी इच्छा सफल होने की होती है बेशक इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि किसी भी इंसान की सफलता में उस व्यक्ति की शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान होता है शिक्षा स्कूल से लिया गया हो  या कहीं और से यह मायने नहीं रखता है।

अगर आप यह आर्टिकल पढ़ रहे हैं तो निश्चित रूप से आपके अंदर यह जानने की जिज्ञासा है कि आखिर सफल कैसे बने?उस ज्ञान को हासिल करने की ललक आपके  अंद र की  चिंगारी शोला बनने के लिए जोर लगा रही  है आपके मन में इस तरह के हजारो सवाल हो सकते है।

आखिर जीवन में सफलता कैसे हासिल कर सकते हैं सफल व्यक्तियों के अंदर कौन से गुण पाए जाते हैं जिन से सफलता की ओर लगातार बढ़ते जाते हैं और     अ सफल लोगों में कौन से अव  गुण   पाए जाते हैंजो  उनको सफलता की मंजिल की  ओर नहीं ले जाते है।

अगर आप  सोच रहे हैं कि रातो रात  सफल होने का फॉर्मूला मिल जाएगा जिससे आप आसानी से सफलता हासिल कर लेंगे तो आप गलत है।  सफलता किसी फार्मूले में नही छुपा है बल्कि जीवन का एक  विस्तार है  सफलता  जीवन में संघर्ष से हासिल किया जाता है जीवन में संघर्ष ही सफलता का मूल मंत्र है

हम आपको इस आर्टिकल में जीवन में सफलता कैसे हासिल किया जा सकता है ? Ten Steps में जानने व समझने का प्रयास करेंगे अगर  आपने स्टेप फॉलो किया तो समझिये सफलता की और कदम कदम बढा चुके हैं क्योकि सफल लोगो में यह बाते कामन पायी गयी है  ।

                                                  1 -शारीरिक कारण

👎 शरीर को हेल्दी कैसे रखें?

अगर आप सोच रहे हैं सफलता के लिए स्वश्थ बॉडी  का क्या काम ? तो आइए स्वस्थ शरीर के योगदान के बारे में विस्तार से समझते हैं मान लेते है की आप  साइकिल  रेस में भाग ले रहे हैं अगर  साइकिल के फिटनेस के बारे में आप कुछ नहीं जान रहे हैं  दूसरी तरफ प्रतियोगीता में भाग लेने वाले  अपनी साइकिल व खुद के फिटनेस के लिए  दिन रात मेहनत कर रहे  है ताकि  खुद की कमी व  साइकिल में मौजूद  किसी भी प्रकार की कमी को दूर किया जा सके जिससे  रेस में  कामयाबी मिल सके  , आप सहज ही अंदाजा लगा सकते हैं उस रेस  में जीत किसकी होगी?जीतने के लिए पहले से तैयारी करना पड़ता है।

 जीत की इच्छा रखने वाला हर इंसान अपनी तैयारियों को महत्व देता है अपने साइकिल की फिटनेस के लिए दिन रात मेहनत करता है जीत की रेस में वास्तविक रूप से वही लोग शामिल है जो तैयारियों में लगे  है  ऐसे लोगों की संख्या मात्र 10% ही होती है। इस लिए अपने देश में भीङ को देखकर कभी  मत डरना मित्रो !
इस बात से आप सहज ही समझ सकते हैं कि हमारे शरीर का सफलता में कितना महत्वपूर्ण योगदान होता है

👎अपने भोजन पर विशेष ध्यान दें

जीवन में स्वस्थ रहने के लिए भोजन का विशेष योगदान है। हमारा खान-पान शरीर के लिए आवश्यक पोषक तत्वों से भरपूर होना चाहिए प्रोटीन- कार्बोहाइड्रेट -वसा- पानी- मिनरल – विटामिन जैसे तत्व संतुलित मात्रा में चाहिए यहां तक कि शरीर के लिए पानी का भी संतुलन बना कर रखना पड़ता है। पानी की कमी का पता प्यास के माध्यम से चल जाता है  लेकिन अन्य तत्वों की कमी का पता लगाना मुश्किल है लेकिन इन तत्वों की कमी का असर हमारे शरीर व दिमाग पर सीधा पड़ता है। इसलिए  खाने व पिने पर विशेष ध्यान रखे।

👎फास्ट फूड से बचे 

देश के लोगों में कुछ सालों में फास्ट फूड खाने का प्रचलन  तेजी से बढा  है फास्ट फूड ज्यादातर मैदे  से बने होते हैं।  मैदे से बनी हुई खाद सामग्री हमारे पाचन के लिए ठीक नहीं होती है तथा इसके खाने से हमारे शरीर में वसा का लेवल भी बढ़ जाता है हमारे शरीर के लिए जि तना महत्वपूर्ण है ,इसकी  अधिकता उ तना ही घातक है इसकी अधिकता के बारे में ज्यादातर लोगों को पता ही नहीं होता है। 
                                                                                                                                                              वजन का  बढ़ जाना  है ,पेट बहार निकल जाना इसकी अधिकता के प्रमुख लक्षण है। शरीर में    अधिक मात्रा  के कारण हार्ट ,शुगर ,रक्तचाप जैसी खतरनाक विमारियो का जन्म होता है।  इसका सीधा असर हमारे ब्रेन पर पङता है  जैसा कि आप जानते हैं कि किसी भी व्यक्ति के जीवन में दिमाग का स्वस्थ होना कितना महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

👎 कोल्ड ड्रिंक तथा शराब से बचें———–

कोल्ड ड्रिंक पीना  हमारे देश के लोगों के   स्टेटस का प्रतीक बन गया है कोल्डड्रिंक के प्रचलन के पहले   वक्त लोग अपने देसी परंपरा अनुसार  मट्ठा- दही -लस्सी व गुण के  शरबत का उपयोग करते थे इस तरह के सभी पेय पदार्थ  हमारे शरीर में पाचन व पोषक तत्वों की कमी को दूर कर सैकङो प्रकार  की बीमारियों से रक्षा करते  थे
लेकिन जब से देसी परंपरा को छोड़ कर विदेशी पेय पदार्थ का दौर आया  है   समाज में इसे पीना व पिलाना  सामाजिक प्रतिष्ठा का रूप मान लिया गया है।                                                                                                              बिना जाने समझे, यह  हमारे शरीर के लिए लाभदायक है या नुकसानदायक छोटे-छोटे बच्चों को भी शान से कोल्ड ड्रिंक के  साइलेंट किलर का डो ज दिया जा रहा है।   कोल्ड ड्रिंक्स और शराब का हमारे शरीर में लिवर तथा ब्रेन पर सर्वाधिक असर पङता है।

✌खानपान का डायट प्लान बनाइए ——-

तेज बदलती दुनिया में खानपान का प्लान बनाना बेहद आवश्यक हो गया है भागम भाग और दौड़ भाग भरी जिंदगी में भूख लगने से कुछ भी खाने से बचें, खासतौर से ऐसे खाद्य पदार्थ बिल्कुल खाने से बचे  जिनका सीधा असर हमारे दिमाग के ऊपर पड़ता हो  कुछ भी खा लेने की आदत छोड़िए, ताजा व गर्म भोजन का सेवन करें ,बासी भोजन करने से बचें ,तली हुई चीजें खाने से बचे  ,मार्केट में मौजूद ज्यादातर जलेबी- समोसे- पकौड़े व मैदे से बनी हुई खाद्य सामग्री बेहद   घटिया क्वालिटी के Oil में तला जाता है जिनका सीधा असर दिल – दिमाग और शरीर पर पड़ता है और ज्यादा लाभ कमाने की सोच के कारण दुकानदार उस Oil को फेंकने से परहेज करते हैं न जाने कितनी बार उसी आयल का इस्तेमाल करते है    एक अध्ययन से स्पष्ट हुआ है बार-बार इस्तेमाल के कारण Oil Slow Poisen का रूप ले लेता है जो दिमाग के लिए बेहद खतरनाक है

                                                       मानसिक कारण 

मेंटल डायट प्लान 

जिस तरह से शरीर के लिए डाइट प्लान की आवश्यकता है ठीक उसी तरह दिमाग के लिए भी diet plan की आवश्यकता होती है Mentaly Diet Plan किसी भी इंसान की सफलता के लिए महत्वपूर्ण है अधिकांश लोग मेंटल डायट   प्लान बनाने के बारे में नहीं जानते , बिना जाने समझे अपनी दिनचर्या शुरू करते  हैं जैसे सुबह उठते ही अखबार पढ़ना ,टीवी पर न्यूज़ देखना या किसी बहस का हिस्सा बनना, यह बातें दिमाग के  सेहत के लिए बेहद खतरनाक है।                                                                                                                      अखबारों के नेगेटिव  खबरे, दिमाग में Negative  Traffic Jenerate करने  लगते है इसी तरह विभिन्न चैनलों के  चटपटी खबरें आपके दिमाग कोNegative Jone में पहुंचा देते हैं।  अगर आपको सफल होना है तो खुद को  सुबह Mantaly Charge करना  पड़ेगा। क्या सोचना है ,क्या बोलना है, क्या सुनना है , क्या पढ़ना है ?यह निर्णय तय करता है कि आपके   आने वाले जीवन का प्रतिविम्ब क्या होगा।

मोटिवेशन बुक पढ़े 

प्रतिदिन आधे घंटे सुबह-सुबह अपने दिमाग कोMotivate करने का  प्रयास करेंMotivation  एनर्जी की तरह दिमाग को चार्ज रखता है दिमाग में भरपूर मात्रा में एनर्जी होने के कारण आपको कोई इमोशनली ब्लैकमेल नहीं कर पाता है। बुक पढ़ने की आदत विकसित करे ,आप के दिमाग में यह बात आ सकता है SUCCESS होने में बुक  का भला क्या रोल हो सकता है ?जिस तरह सर्प के जहरीले प्रभाव को औषधीय जाणिओ द्वारा ख़त्म किया जाता है ठीक उसी प्रकार दिमाग में मौजूद Negative विचारो को book के द्वारा ख़त्म किया जाता है। बुक भी दिमाग के लिए ब्रेन बूस्टर का कार्य करते है।

लर्निंग एटीट्यूड 

कुदरत के नियमों का पालन हमेशा करें। सीखने की  प्रवित्ति को हमेशा अंदर जगाए रखें ,ज्ञान  चाहे जहां से मिले उसे   हासिल करने का प्रयास करें ,उससे भी कुछ सीखने का प्रयास करें भले ही  वो आप के नीचे के उम्र के ही क्यों न हो ?ज्ञान के भूख को बनाए रखे।

योगा- मेडिटेशन करें 

 जिस तरह पक्षी उणने  लिए दो पंख की आवश्यकता होती है उसी तरह एक इंसान को आकाश की बुलंदियों को छूने के लिए शरीर और दिमाग दोनों को स्वस्थ रखने की आवश्यकता होती है एक पंक्षी  को आकाश में उड़ने के लिए मजबूत पंख चाहिए और मजबूत पंख  के सहारे पक्षी आकाश की बुलंदियों को छू लेता है इंसान के पास  भी एक मजबूत दिमाग और शरीर का होना अति आवश्यक है योगा और मेडिटेशन के जरिए दिमाग और शरीर दोनों को स्वस्थ रखा जा सकता है।

GOAL  अवश्य  बनाए 

गोल यानि लक्ष्य दिमाग का सबसे बंढा बूस्टर है।  अगर आपके पास कोई गोल कोई गोल नहीं है तो यह निश्चित है की आप इस दुनिया में दुसरो के लिए गोल -गोल  घूमने का कार्य करेंगे और आप अपने सपनो  को कभी पूरा नहीं कर पाएंगे। इसलिए ये आवश्यक है कि अपने मन मुताबक कार्य चुनकर ,उसे हफ़्ते ,महीने ,साल दो साल में पूरा करने का लक्ष्य बनाये पूरा कारने  का Dedline  जरूर बनाये। धन्यवाद !
,
    

Leave a Comment